Lucknow Pact (1916 AD)



Lucknow Pact (1916 AD): Due to the war between Britain and Turkey, a feeling of enmity had arisen among the Muslims towards the British. In 1916 AD, there was an agreement between the Muslim League leader Mohammad Ali Jinnah and the Congress in Lucknow, under which a ‘Joint Committee’ was established by the Congress and the League. This is popularly known as the Lucknow Pact (Congress League Plan).

Q. Who presided over the Lucknow Congress session in 1916 AD?

A. Annie Besant

B. Ambika Charan Mazumdar

C. Satyendra Prasanna Sinha

D. Bhupendranath Bose

Under the accord, the Congress accepted the Muslim League’s demand for communal representation. Ambika Charan Mazumdar presided over the Lucknow Congress session in 1916 AD. Madan Mohan Malviya opposed the Lucknow Pact.

Lucknow Pact

लखनऊ समझौता (1916 ई.)

ब्रिटेन और तुर्की के बीच युद्ध के कारण मुस्लिमों में अंग्रेजों के प्रति विद्वेष की भावना उत्पन्न हो गयी थी। 1916 ई. को लखनऊ में मुस्लिम लीग के नेता मोहम्मद अली जिन्ना तथा कांग्रेस के मध्य एक समझौता हुआ जिसके अन्तर्गत कांग्रेस व लीग ने मिलकर एक ‘संयुक्त समिति’ की स्थापना हुई। यह लखनऊ समझौता (कांग्रेस लीग योजना) के नाम से प्रसिद्ध है।

समझौते के अंतर्गत कांग्रेस ने मुस्लिम लीग की साम्प्रदायिक प्रतिनिधित्व की माँग स्वीकार की गयी । 1916 ई. को लखनऊ कांग्रेस अधिवेशन की अध्यक्षता अम्बिका चरण मजूमदार ने किया। लखनऊ समझौते का विरोध मदन मोहन मालवीय ने किया था।

Related Post:

Harding Bomb Case (1912 AD)

Surat session of Congress (1907 AD)

Partition of Bengal (1905 AD)

Leave a Comment